पटनाःFalgunAmavasya:फाल्गुनमाहकेकृष्णपक्षकीअमावस्याकीतिथिबहुतमहत्वपूर्णहै.अमावस्याकीतिथिपितरोंकेसंरक्षकआर्यमादेवकीमानीजातीहै.इसलिएइसदिनगंगास्नानकरनेसेपितृदोषसेमुक्तिमिलतीहै.इसकेअलावाइसदिनमंगलवारहोनेसेइसकामहत्वऔरबढ़जाताहै.फाल्गुनकीअमावस्यासुख,संपत्तिऔरसौभाग्यकीप्राप्तिकेलिएविशेषफलदायीहै.जीवनमेंसुखऔरशांतिकेलिएफाल्गुनअमावस्याकाव्रतरखाजाताहै.इसकेसाथहीइसदिनपितरोंकीआत्माकीशांतिकेलिएतर्पणवश्राद्धभीकियाजाताहै.

पटनाःFalgunAmavasya:

विशेषधार्मिकअनुष्ठानकीतिथि

यदिअमावस्यासोम,मंगल,गुरुयाशनिवारकेदिनहोतो,यहसूर्यग्रहणसेभीअधिकफलदेनेवालीहोतीहै.धार्मिकमान्यताकेअनुसारफाल्गुनअमावस्याकेदिनकियेजानेवालाव्रतऔरधार्मिककर्मतुरंतफलदायीहोतेहैं.हरअमावस्यापरपितरोंकेतर्पणकाभीविशेषमहत्वहै.इसदिनविशेषधार्मिकअनुष्ठानकिएजाएंतोउनकाविशेषफलप्राप्तहोताहै.

विशेषधार्मिकअनुष्ठानकीतिथि

पीपलपेड़कीसातपरिक्रमालगाएं

इसदिननदी,जलाशययाकुंडआदिमेंस्नानकरेंऔरसूर्यदेवकोअर्घ्यदेनेकेबादपितरोंकातर्पणकरें.पितरोंकीआत्माकीशांतिकेलिएउपवासकरेंऔरकिसीगरीबव्यक्तिकोदान-दक्षिणादें.अमावस्याकेदिनशामकोपीपलकेपेड़केनीचेसरसोकेतेलकादीपकलगाएंऔरअपनेपितरोंकोस्मरणकरें.पीपलकीसातपरिक्रमालगाएं.

पीपलपेड़कीसातपरिक्रमालगाएं

इनवस्तुओंकाकरेंदान

रुद्र,अग्निऔरब्राह्मणोंकापूजनकरकेउन्हेंउड़द,दहीऔरपूरीआदिकानैवेद्यअर्पणकरेंऔरस्वयंभीउन्हींपदार्थोंकाएकबारसेवनकरें.शिवमंदिरमेंजाकरगायकेकच्चेदूध,दही,शहदसेशिवजीकाअभिषेककरेंऔरउन्हेंकालेतिलअर्पितकरें.अमावस्याशनिदेवकादिनभीमानाजाताहै.इसलिएइसदिनउनकीपूजाकरनाजरूरीहै.अमावस्याकेलिएशनिमंदिरमेंनीलेपुष्णअर्पितकरें.कालेतिल,कालेसाबुतउड़द,कड़वातेल,काजलऔरकालाकपड़ाअर्पितकरें.

इनवस्तुओंकाकरेंदान

By Gill